Categories
Tech tips

Funny WhatsApp Tips

Read Original Source: Click Here

Currently South Africa does not own any satellite in the BRICS group. The groups of Brazil, Russia, India, China and South Africa are known as BRICS. An agreement is underway between all these countries to create a group of satellites and to share information from each other’s satellites. Each country will provide one to two satellites for the group. Seabers satellites will be included in the group.

A satellite monitoring the Earth jointly developed by China and Brazil launched into space on 20 December. The launch took place under a bilateral program which is seen as a model of broad cooperation between BRICS countries.

China’s official news agency Xinhua reported that the Sino-Brazilian Earth Resource Satellite-4A was launched on a long March-4B rocket in China’s northern province of Chanxi. These satellites were the 6th satellite to be developed under the Sino-Brazilian Earth Resources (Seabers) program started in 1988, these satellites have been designed to monitor Earth from space for civilian use.

Read Original Source: Click Here

Categories
Tech tips

Commendation of Chandrayaan-2 Mission

ndia’s second lunar mission Chandrayaan-2 is being appreciated worldwide. Now the citizens of China have also praised the ISRO scientists involved in this campaign. Posting on a Twitter-like Chinese micro-blogging site, he appealed to scientists not to lose hope and continue their search in space.

Read Original Source: Click Here

One user wrote, ‘Want to collect all new information about space. It does not matter which person or country has achieved success. Everyone should be appreciated. Those who failed temporarily should also be encouraged. ‘ Some users said that Indian scientists have put in a lot of effort and sacrifice to explore space, which is praiseworthy.

In a post on another website called Jihu, a Chinese user said, ‘We are all in the middle, but some of us are looking at the stars. If any country dares to explore more about space, it should be respected.

China Has Landed on The Moon

China is the third country to make a soft landing on the moon after the US, Russia. In 2013, it launched its first spacecraft Chang’e-3 on the moon. Chang’e-4 was launched in December 2018. In January this year, the plane landed on the part of the moon that was not visible from the earth.

Read Original Source: Click Here

Categories
Tech tips

Benefit of Google Assistant

गूगल असिस्टेंट एक एप्लीकेशन है जो कि हमारी हर किसी काम में मदद करता है। डिजिटल के इस युग में गूगल असिस्टेंट आपके लिए बहुत ही फायदेमंद एप्लीकेशन है। गूगल ने अपने एंड्राइड यूजर को बहुत ही अच्छी सुविधा दी है जिसकी मदद से आप प्रतिदिन की न्यूज़ अपनी राशिफल और प्रतिदिन की अलार्म सेट कर सकते हैं। इसकी मदद से आप अपने स्मार्टफोन के अधिकतर काम आसानी से कर सकते हैं।

Read Original Source: Click Here

आप इसकी मदद से अपने हर किसी काम को बहुत ही आसान बना सकते हैं यह आपकी हर तरह की मदद करता है। आपको हम एक उदाहरण के माध्यम से समझाते हैं मान लीजिए कि आपको अगले दिन 12:00 बजे कोई आपकी मीटिंग है तो आपने क्या किया कि आज की डेट में हमने कल की मीटिंग के लिए गूगल के असिस्टेंट में मैं जाकर आप यह नोट बनाकर फीड कर दीजिए कि हमारी कल 12:00 बजे की मीटिंग है तो आपको अगले दिन 12:00 बजे के पहले ही गूगल असिस्टेंट आपको बता देगा कि आज आपकी 12:00 बजे की मीटिंग है। गूगल असिस्टेंट आपका बहुत ही डिजिटल हेल्पर है।

गूगल असिस्टेंट एक एप्लीकेशन है जो कि हमारी हर किसी काम में मदद करता है। डिजिटल के इस युग में गूगल असिस्टेंट आपके लिए बहुत ही फायदेमंद एप्लीकेशन है। गूगल ने अपने एंड्राइड यूजर को बहुत ही अच्छी सुविधा दी है जिसकी मदद से आप प्रतिदिन की न्यूज़ अपनी राशिफल और प्रतिदिन की अलार्म सेट कर सकते हैं। इसकी मदद से आप अपने स्मार्टफोन के अधिकतर काम आसानी से कर सकते हैं।

आप इसकी मदद से अपने हर किसी काम को बहुत ही आसान बना सकते हैं यह आपकी हर तरह की मदद करता है। आपको हम एक उदाहरण के माध्यम से समझाते हैं मान लीजिए कि आपको अगले दिन 12:00 बजे कोई आपकी मीटिंग है तो आपने क्या किया कि आज की डेट में हमने कल की मीटिंग के लिए गूगल के असिस्टेंट में मैं जाकर आप यह नोट बनाकर फीड कर दीजिए कि हमारी कल 12:00 बजे की मीटिंग है तो आपको अगले दिन 12:00 बजे के पहले ही गूगल असिस्टेंट आपको बता देगा कि आज आपकी 12:00 बजे की मीटिंग है। गूगल असिस्टेंट आपका बहुत ही डिजिटल हेल्पर है।

Read Original Source: Click Here

Categories
Tech tips

Chrome Feature

कोविड 19 ने पूरी दुनिया मे तहलका मचा दिया है। भारत से ज़्यादा अच्छा हेल्थकेअर इंफ्रास्ट्रक्चर होने के बावजूद अमेरिका और इटली जैसे देशों में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। आरोग्य सेतु ऐप भारत ने अपने प्रोएक्टिव तरीको से अभी तक इस मौत के आंकड़े को कंट्रोल कर रखा है। आरोग्य सेतु ऐप

Read Source : Click Here

कोविड 19 ने पूरी दुनिया मे तहलका मचा दिया है। भारत से ज़्यादा अच्छा हेल्थकेअर इंफ्रास्ट्रक्चर होने के बावजूद अमेरिका और इटली जैसे देशों में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। आरोग्य सेतु ऐप भारत ने अपने प्रोएक्टिव तरीको से अभी तक इस मौत के आंकड़े को कंट्रोल कर रखा है। आरोग्य सेतु ऐप कोविड 19 ने पूरी दुनिया मे तहलका मचा दिया है। भारत से ज़्यादा अच्छा हेल्थकेअर इंफ्रास्ट्रक्चर होने के बावजूद अमेरिका और इटली जैसे देशों में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। आरोग्य सेतु ऐप भारत ने अपने प्रोएक्टिव तरीको से अभी तक इस मौत के आंकड़े को कंट्रोल कर रखा है। आरोग्य सेतु ऐप कोविड 19 ने पूरी दुनिया मे तहलका मचा दिया है। भारत से ज़्यादा अच्छा हेल्थकेअर इंफ्रास्ट्रक्चर होने के बावजूद अमेरिका और इटली जैसे देशों में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। आरोग्य सेतु ऐप भारत ने अपने प्रोएक्टिव तरीको से अभी तक इस मौत के आंकड़े को कंट्रोल कर रखा है। आरोग्य सेतु ऐप “If 70 per cent reduction (as is being maintained by the growers and agents of trade and industry) is true, then this may devastate the livelihood of people of Kashmir for years to come,” the farmers’ body stated. कोविड 19 ने पूरी दुनिया मे तहलका मचा दिया है। भारत से ज़्यादा अच्छा हेल्थकेअर इंफ्रास्ट्रक्चर होने के बावजूद अमेरिका और इटली जैसे देशों में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। आरोग्य सेतु ऐप भारत ने अपने प्रोएक्टिव तरीको से अभी तक इस मौत के आंकड़े को कंट्रोल कर रखा है। आरोग्य सेतु ऐप The impact on saffron crop was much worse and yields are expected to stay lower this year. “Astonishingly, the Kashmir administration hasn’t announced it a calamity, nor has it initiated any field level survey so far to estimate the magnitude of damages,” it said noting that regular supply of power, street connectivity and supply of essential items in villages also are major issues of concern. कोविड 19 ने पूरी दुनिया मे तहलका मचा दिया है। भारत से ज़्यादा अच्छा हेल्थकेअर इंफ्रास्ट्रक्चर होने के बावजूद अमेरिका और इटली जैसे देशों में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। आरोग्य सेतु ऐप भारत ने अपने प्रोएक्टिव तरीको से अभी तक इस मौत के आंकड़े को कंट्रोल कर रखा है। आरोग्य सेतु ऐप

Read Source : Click Here

Apple harvesting was to begin in September but has been delayed for choosing as farmers could not venture out. Once harvesting started, non-availability of telephones for non-access and first 60 days to net even meant that the communicating between traders, transporters and apple manufacturers was snapped, causing a disturbance in the series, it stated. कोविड 19 ने पूरी दुनिया मे तहलका मचा दिया है। भारत से ज़्यादा अच्छा हेल्थकेअर इंफ्रास्ट्रक्चर होने के बावजूद अमेरिका और इटली जैसे देशों में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। आरोग्य सेतु ऐप भारत ने अपने प्रोएक्टिव तरीको से अभी तक इस मौत के आंकड़े को कंट्रोल कर रखा है। आरोग्य सेतु ऐप

Read Source : Click Here

Categories
Tech tips

Tomato catch up recipe

The Centre’s initiative to secure apples at Kashmir through cooperative Nafed has”failed miserably” as only 0.01 per cent (1.36 lakh boxes) of 11 crore boxes was purchased directly from growers up to now, a farmers body claimed on Saturday.

Read Source : Click Here

Returning in the field visit to this valley, the All India Kisan Sangharsh Coordination Committee (AIKSCC) required that the Centre should provide reimbursement to apple and other horticulture crops growers in Kashmir who have incurred losses because of unseasonal heavy snowfall in addition to from lack of transportation and cold storage help because of the political chaos in the newly formed union territory. The Centre made a decision to secure apples in the area in the aftermath of terrorists threatening some apple growers to not sell their produce at the marketplace after abrogation of the special status awarded to Jammu and Kashmir under Article 370 and bifurcation of the country into two Union Territories. “The government authorised Nafed to carry-out procurement but that this operation failed miserably. Deficiency of expertise and infrastructure meant that NAFED has secured 0.01 percent of their estimated yield (1.36 lakh boxes out of over 11 crore boxes),” the AIKSCC explained in a statement. Farmers have complained the Nafed procurement had effect because it has sold apple at the selling market at prices that brought down the wholesale flea prices in the marketplace, it mentioned. Kashmir produces 75 per cent of the nation’s total apple production and the horticulture industry of Kashmir has a turnover of Rs 10,000 crore. “If 70 per cent reduction (as is being maintained by the growers and agents of trade and industry) is true, then this may devastate the livelihood of people of Kashmir for years to come,” the farmers’ body stated. Highlighting the plight of farmers, even the AIKSCC said its delegation that visited the valley witnessed extensive damage to the apple harvest in the valley as a result of untimely and heavy snowfall, it said and added growers were unable to go out and harvest the harvest and shop it due to heavy snow fall. The impact on saffron crop was much worse and yields are expected to stay lower this year. “Astonishingly, the Kashmir administration hasn’t announced it a calamity, nor has it initiated any field level survey so far to estimate the magnitude of damages,” it said noting that regular supply of power, street connectivity and supply of essential items in villages also are major issues of concern. Besides heavy snowfall, the farmers human anatomy said plants like pear, cherry and grapes which were chosen in August were stranded due to complete shutdown in the valley and could not be marketed, resulting in near complete loss for the farmers.

Read Source : Click Here

Apple harvesting was to begin in September but has been delayed for choosing as farmers could not venture out. Once harvesting started, non-availability of telephones for non-access and first 60 days to net even meant that the communicating between traders, transporters and apple manufacturers was snapped, causing a disturbance in the series, it stated. Further, apples could not be brought by farmers to the markets farmers were forced to deliver their produce to the Highways and since trucks were not permitted to visit the villages. This caused inconvenience, distress and added expenses, it added.

Read Source : Click Here

Categories
News

Covide 19 spain news

Read Original Source: Click Here

Chinese Smartphone manufacturer Radmi is a smart smartphone manufacturer. The smartphones of this company are very good and affordable. This company always tries to provide the best smartphones at the lowest price for their customers. That is why the Redmi company Today, it has made space among the world’s top 5 brands.
Today, the phone we are going to tell you about the Redmi company is the name of the phone Redmi Mi Max 2. So let us know about the specification and price of this great phone.

This phone has a 6.4 inch full HD display.
This phone has a 12-megapixel back camera and a 5-megapixel front camera.
The Qualcomm Snapdragon 625 Octa Core Processor has been given in this phone for its excellent performance.
There are two variants available in the Indian market of this phone, one of which has an internal storage of 16GB and the other has 32GB of internal storage, which you will be able to extend to 256 GB with the help of micro SD card.
This phone has the facility of 4 GB RAM.
To provide power to this phone, a non-removable battery of 5300 MAH has been provided.

There are two variants available in the Indian market of this phone, the first variant of which is priced 13999 in Indian market and the value of the second variant is ₹ 15999. You can buy this phone from the online e-commerce website Flipkart or Amazon.

Jabong is once more Associate in Nursing Yankee whole however appears to be doing o.k.. it’s an oversized variety {of garments|of garments} and accessories purchasable and may be a complete paradise for those that love buying clothes.

Read Original Source : Click Here

An equally sizeable amount of ladies favor Myntra over Jabong. Myntra additionally incorporates a sizable amount of accessories and garments on its on-line portal. it’s an oversized variety of classes in addition and one can purchase from a class of their selections. From western to ethnic to ancient, all types of garments square measure sold on Myntra.

Snapdeal is the best searching web site and is commonly most well-liked by the lots for its low-cost rates. It sells the product at very low costs and thence, maybe a favorite of the lots. it’s a decent plan to shop for from Snapdeal if you’re trying to find completely low-cost costs.

Read Original Source: Click Her

Categories
Tech tips

New Update in Whatsapp

Human imaginative and prescient is completely distinctive & beautiful. It is also amazingly tough. Our eyes start working from the aim we stand up to the aim we return to sleep. The know-how has now developed to the extent that this beautiful imaginative and prescient capability is simply not solely shared by folks nonetheless it’s normally extended to the machines.

Read Source : Click Here

In simpler phrases, machine imaginative and prescient is the potential of a machine to see; quite a lot of video cameras are employed inside the machine. These cameras help the machines to analysis & examine the objects robotically. Machine imaginative and prescient is a subfield of engineering that integrates computer science, optics, mechanical engineering & automation. Sipotek is educated Chinese language language agency that was born in 2002 to fulfill the requirements of the industrial market. Sipotek is positioned in Shenzhen Metropolis, China & it is established inside the enterprise of administration & imaginative and prescient inspection. For larger than 15 years, the company has been designing & manufacturing seen inspection strategies. They’re the pioneers of seen inspection machines & their staff makes all the effort to satisfy the desires of their purchasers belonging to utterly totally different parts of the world. Practically all the company’s technical staff is from the world’s first-class manufacturing enterprises. The company holds the title of “Nationwide Extreme Tech Enterprise” which was acquired in 2013. The Shenzhen authorities & innovation committee lend their full assist to Sipotek as they’ve quite a lot of innovation patents of their pockets.

Read Source : Click Here

Sipotek has spherical 20 marvelous imaginative and prescient machines which signify a vital problem inside the manufacturing topic. Sipotek is the very best producer inside the topic of machine imaginative and prescient. Intelligent imaginative and prescient choices are designed & constructed by Sipotek, defending a mix of the latest utilized sciences in ideas akin to character identification, image seize & comparability, and plenty of others. Sipotek seen inspection machines are superior machines that help in checking utterly totally different parameters like dimension, prime, deformities, blurred & scratched surfaces. They work with the world’s top-quality {{hardware}} & software program program companies to supply reliable choices to their purchasers. All of Sipotek’s duties have a customer-centric decision and they also have steadfast teams assigned from administration, design, promoting, teaching staff, assist staff & arrange.

Read Source : Click Here

Categories
News

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने निकाली Bharti

BI 2020 में Online / Offline मोड में आवेदकों से आवेदन प्राप्त करने का प्रस्ताव है। योग्य उम्मीदवार, 26/01/2020 से पहले SBI, के लिए अपना आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। आवेदन करने के लिए इच्छुक उमीदवार सभी पात्रता मानदंड, वेतन, कुल रिक्तियां, चयन प्रक्रिया, नौकरी विवरण, अंतिम तिथि, और आवेदन प्रक्रिया जैसे अन्य महत्वपूर्ण जानकारी नीचे दिए गए पदनाम के लिए देख सकते हैं। अपना आवेदन ऑनलाइन जमा करने से पहले, कृपया नीचे सभी विवरण देखें।

Read Original Source: Click Here

पद नाम जूनियर एसोसिएट्स

शैक्षिक योग्यता -Any Graduate

रिक्तियां- 8000

Read Original Source: Click Here

पद वेतन रुपये. – 26,000/-प्रति महीने

अनुभव – फ्रेशर

नौकरी करने का स्थान – भारत भर में

आवेदन करने की अंतिम तिथि- 26/01/2020

इच्छुक और योग्य उम्मीदवार 26/01/2020 से पहले आवेदन कर सकते हैं।चयन स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, SBI मानदंडों या निर्णय द्वारा लिखित परीक्षा / साक्षात्कार के आधार पर होगा।

Read Original Source: Click Here

इच्छुक उम्मीदवारों से अनुरोध है कि वे निर्धारित आवेदन पत्र भरें और इसे 26/01/2020 से पहले निम्नलिखित पते पर भेज दें।अभ्यर्थी को अंतिम तिथि से पहले उपर्युक्त पते पर पासपोर्ट आकार की तस्वीर, शैक्षिक प्रमाणपत्र, और अन्य प्रासंगिक प्रमाणपत्रों की संलग्न प्रतियों के साथ आवेदन भेजना होगा।

Categories
News

फाइव जी Technology news

कोरोनावायरस की वजह से ज्यादातर लोग सोशल मीडिया पर जानकारी इक्कठी करने में लगे हुए हैं और जान-बचाने के लिए, तरह-तरह के उपाय ढूंढ रहे हैं, लेकिन देश की ताजा खबरें भी पढ़ी जा रही हैं और इस बीच फोन की बैटरी और नेट का इस्तेमाल बहुत ज्यादा हो रहा है।

Read Original Source: Click Here

इस समय फोन की बैटरी बहुत ही ज्यादा जल्दी खर्च हो रही है, लेकिन कुछ लोग फोन की सीक्रेट सेटिंग नहीं जानते हैं, ज़्यादातर स्मार्टफोंस की बैटरी 3 से 4 घंटे चलती है और फिर उसके बाद ऑफ हो जाती है, इसलिए लोगों का काम बीच में अधूरा रह जाता है और उनको बहुत गुस्सा भी आता है।

कोरोनावायरस की वजह से ज्यादातर लोग सोशल मीडिया पर जानकारी इक्कठी करने में लगे हुए हैं और जान-बचाने के लिए, तरह-तरह के उपाय ढूंढ रहे हैं, लेकिन देश की ताजा खबरें भी पढ़ी जा रही हैं और इस बीच फोन की बैटरी और नेट का इस्तेमाल बहुत ज्यादा हो रहा है।

Read Original Source: Click Here

इस समय फोन की बैटरी बहुत ही ज्यादा जल्दी खर्च हो रही है, लेकिन कुछ लोग फोन की सीक्रेट सेटिंग नहीं जानते हैं, ज़्यादातर स्मार्टफोंस की बैटरी 3 से 4 घंटे चलती है और फिर उसके बाद ऑफ हो जाती है, इसलिए लोगों का काम बीच में अधूरा रह जाता है और उनको बहुत गुस्सा भी आता है।

वीडियो देखने के लिए रीद ओफिसिअल सोर्स पे क्लीक करे

कोरोनावायरस की वजह से ज्यादातर लोग सोशल मीडिया पर जानकारी इक्कठी करने में लगे हुए हैं और जान-बचाने के लिए, तरह-तरह के उपाय ढूंढ रहे हैं, लेकिन देश की ताजा खबरें भी पढ़ी जा रही हैं और इस बीच फोन की बैटरी और नेट का इस्तेमाल बहुत ज्यादा हो रहा है।

इस समय फोन की बैटरी बहुत ही ज्यादा जल्दी खर्च हो रही है, लेकिन कुछ लोग फोन की सीक्रेट सेटिंग नहीं जानते हैं, ज़्यादातर स्मार्टफोंस की बैटरी 3 से 4 घंटे चलती है और फिर उसके बाद ऑफ हो जाती है, इसलिए लोगों का काम बीच में अधूरा रह जाता है और उनको बहुत गुस्सा भी आता है।

कोरोनावायरस की वजह से ज्यादातर लोग सोशल मीडिया पर जानकारी इक्कठी करने में लगे हुए हैं और जान-बचाने के लिए, तरह-तरह के उपाय ढूंढ रहे हैं, लेकिन देश की ताजा खबरें भी पढ़ी जा रही हैं और इस बीच फोन की बैटरी और नेट का इस्तेमाल बहुत ज्यादा हो रहा है।

Read Original Source: Click Here

इस समय फोन की बैटरी बहुत ही ज्यादा जल्दी खर्च हो रही है, लेकिन कुछ लोग फोन की सीक्रेट सेटिंग नहीं जानते हैं, ज़्यादातर स्मार्टफोंस की बैटरी 3 से 4 घंटे चलती है और फिर उसके बाद ऑफ हो जाती है, इसलिए लोगों का काम बीच में अधूरा रह जाता है और उनको बहुत गुस्सा भी आता है।